ads

बजट गड़बड़ाया: ईंधन ने निकाला जेबों से धुआं, वाहन चलाना 30 फीसद महंगा

जयपुर । कोरोना काल में रसोई गैस और पेट्रोल-डीजल की बेलगाम कीमतों ने आम लोगों की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। ईंधन के दाम बढऩे से रोजमर्रा का सामान भी महंगा होने लगा है। पेट्रोल-डीजल की कीमतों में हाल की वृद्धि के बाद वाहन चलाना 30 प्रतिशत तक ज्यादा खर्चीला हो गया है।

पेट्रोल के दाम 1 मार्च, 2020 को 75.52 रुपए, जबकि डीजल के 69.23 रु. प्रति लीटर थे। अब पेट्रोल 22.2 और डीजल 20.66 रुपए प्रति लीटर महंगा हो चुका है। 1 मार्च, 2020 से पहले 15 के एवरेज वाली पेट्रोल कार से 250 किलोमीटर का सफर करीब 1,258 रुपए में तय हो जाता था। अब यह सफर करीब 371 रुपए की बढ़ोतरी के साथ 1,629 रुपए में तय करना पड़ रहा है। यानी पेट्रोल कार वालों की जेब पर करीब 30 प्रतिशत का भार पड़ा है। इसी तरह पहले 2,300 रु. में करीब 35 लीटर डीजल आता था। अब 3 हजार रु. में मात्र 33 लीटर डीजल आता है। करीब 3 महीने स्थिर रहने के बाद पेट्रोल-डीजल के दामों में 20 नवंबर से वृद्धि का दौर शुरू हुआ था।

व्यावसायिक सिलेंडर भी महंगा...

लगातार महंगे हो रहे गैस सिलेंडर से भी आम लोगों का बजट गड़बड़ा गया है। अप्रेल 2020 के बाद घरेलू गैस सिलेंडर पर मिलने वाली सब्सिडी अघोषित तौर पर बंद होने से लोगों को इसके 58 प्रतिशत अधिक दाम चुकाने पड़ रहे हैं। व्यावसायिक सिलेंडर के दाम भी 25.38 रुपए की बढ़ोतरी के साथ 1,296 रुपए से बढ़कर 1,625 रुपए तक पहुंच गए हैं।

सिलेंडर के दाम 25 रु. बढ़े-
नई दिल्ली. मार्च की पहली तारीख को जनता को तगड़ा झटका लगा। एलपीजी गैस सिलेंडर सोमवार को और महंगा हो गया। कीमत 25 रुपए बढ़ी है। फरवरी में तीन बार कीमत बढ़ाई गई थी। मार्च के पहले ही दिन कीमत बढऩे के बाद गैस सिलेंडर 819 रुपए का हो गया है। इससे पहले 4 और 25 फरवरी को 14.2 किलोग्राम के सिलेंडर के दाम 25-25 रु., जबकि 15 फरवरी को 50 रुपए बढ़ाए गए थे। दिसंबर से अब तक इसके दाम में 275 रुपए की बढ़ोतरी हो चुकी है। हर महीने की शुरुआत में और 15वें दिन गैस के दामों की समीक्षा होती है। इसके आधार पर कीमतों के बारे में फैसला किया जाता है। 'चूल्हा फूंको...'रसोई गैस की बढ़ती कीमत पर कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर तंज कसा। उन्होंने ट्वीट किया, 'एलपीजी सिलेंडर के दाम फिर बढ़ गए। अब जनता के लिए मोदी सरकार के तीन ही विकल्प हैं- व्यवसाय बंद कर दो, चूल्हा फूंको और जुमले खाओ।



Source बजट गड़बड़ाया: ईंधन ने निकाला जेबों से धुआं, वाहन चलाना 30 फीसद महंगा
https://ift.tt/381CCvP

Post a Comment

0 Comments