ads

मुक्केबाजी : बोक्सम टूर्नामेंट में मैरी कॉम, पंघाल पदक से एक पंच दूर

नई दिल्ली। छह बार की विश्व चैंपियन एमसी मैरी कॉम (mary kom) और विश्व चैंपियनशिप के रजत पदक विजेता अमित पंघाल (52 किग्रा) स्पेन के कास्टेलॉन में एक मार्च से शुरू हुए बोक्सम इंटरनेशल बॉक्सिंग टूर्नामेंट में अपने पदक पक्के करने से मात्र एक जीत हैं। मैरी कॉम बुधवार को अपना पहला मुकाबला खेलेगी। मैरी कॉम से सीधे क्वार्टर फाइनल से अपने अभियान की शुरुआत करेगी, जहां उन्हें 51 किग्रा के फ़्लाइटवेट वर्ग में इटली की गियोरडना सोरेंटिनो से भिड़ना है। महिला वर्ग के क्वार्टर फाइनल मुकाबले बुधवार को खेले जाएंगे।

महिला हॉकी : जर्मनी दौरे पर लगातार तीसरा मैच हारी भारतीय टीम

पुरुष वर्ग में पंघाल क्वार्टर फाइनल में स्थानीय खिलाड़ी गैब्रियल एस्कोबार से भिड़ेंगे। मैरी कॉम और पंघाल को पहले राउंड के बाउट में बाई मिला है। विश्व चैंपियनशिप के कांस्य पदक विजेता मनीष कौशिक 63 किग्रा लाइटवेल्टरवेट के अपने शुरूआती राउंड में मंगलवार को स्पेन के राडौने अमारी से भिड़ेंगे।

AFG vs ZIM 1st Test, Day 1 : जिम्बाब्वे ने अफगानिस्तान की पूरी टीम को 131 रनों पर समेटा

कौशिक के अलावा, राष्ट्रमंडल खेलों के कांस्य पदक विजेता मोहम्मद हसमुद्दीन मंगलवार देर रात शुरूआती दौर में एक्शन में दिखाई देंगे। हसमुद्दीन (57 किग्रा) स्पेन के जुआन मैनुअल टॉरेस के खिलाफ लड़ेंगे। मैरी कॉम सहित 12 भारतीय (छह पुरुष और छह महिलाएं) अंतिम -8 में अपने अभियान की शुरूआत करेंगे। इस टूर्नामेंट में 14 सदस्यीय भारतीय दल भाग ले रहे हैं। इनमें नौ भारतीय मुक्केबाज ओलंपिक के लिए क्वालीफाई कर चुके हैं।

चौथे टेस्ट से पहले टीम इंडिया को बड़ा झटका, यह स्टार खिलाड़ी हुआ प्लेइंग इलेवन से बाहर

इस उच्चस्तरीय टूर्नामेंट में 19 शीर्ष देशों के मुक्केबाज उतरेंगे। भारतीय टीम में आठ पुरुष और छह महिला मुक्केबाज शामिल हैं। युवा मुक्केबाज जैसमीन भी इस टीम में है और यह उनका पहला सीनियर दौरा है। जैसमीन 57 किग्रा वर्ग में उतरेंगी। पुरुष वर्ग में कॉमनवेल्थ गेम्स के स्वर्ण पदक विजेता विकास कृष्णन (69 किग्रा) और सतीश कुमार (91 प्लस किग्रा वर्ग) हैं। महिलाओं में पंजाब की सिमरनजीत कौर (60 किग्रा), असम की लोवलिना बोरगेहिन (69 किग्रा) और हरियाणा की पूजा रानी (75 किग्रा) हैं।



Source मुक्केबाजी : बोक्सम टूर्नामेंट में मैरी कॉम, पंघाल पदक से एक पंच दूर
https://ift.tt/2ObhOuS

Post a Comment

0 Comments