ads

फटे जूतों को चिपकाकर खेलने को मजबूर है यह इंटरनेशनल खिलाड़ी, सोशल मीडिया पर लगाई मदद की गुहार

क्रिकेट में आमतौर पर जब कोई खिलाड़ी इंटरनेशनल लेवल पर कामयाब हो जाता है तो उसके संघर्ष की कहानियां सबके सामने आती हैं। लेकिन इंटरनेशनल लेवल तक पहुंचने में खिलाड़ियों को बहुत संघर्ष करना पड़ता है। कई खिलाड़ी आर्थिक समस्या की वजह से संघर्ष के दौर से गुजरते हैं। भारत,ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और न्यूजीलैंड जैसे बड़े क्रिकेट बोर्ड्स अपने खिलाड़ियों को हर तरह की सुविधाएं देते हैं। वहीं कुछ देशों में ऐसे खिलाड़ी भी हैं कि जिनको सुविधाएं नहीं मिल पाती। ऐसी ही कहानी जिम्बाब्वे के एक खिलाड़ी की भी है। जिम्बाब्वे के लिए साल 2017 में डेब्यू करने वाले बाएं हाथ के बल्लेबाज रयान बर्ल के पास खेलने के लिए जूते तक नहीं हैं। वे फटे हुए जूतों को रिपेयर करवाकर खेलने को मजबूर हैं। हाल ही रयान ने सोशल मीडिया पर मदद की गुहार लगाई है।

फटे हुए जूते और ग्लू स्टिक
रायन बर्ल ने हाल ही ट्विटर पर एक फोटो शेयर की। इस तस्वीर में फटे और चरमराए जूते नजर आ रहे हैं। साथ में उन जूतों के पास एक ग्लू स्टिक रखा है। तस्वीर शेयर करते हुए रयान ने लिखा कि क्या ऐसा हो सकता है कि हमें भी स्पॉन्सर मिल जाए ताकि हमें हर सीरीज के बाद जूतों को ऐसे चिपकाना ना पड़े। रसान के इस ट्वीट पर लोग अपने रिएक्शन भी दे रहे हैं।

यह भी पढ़ें— क्रिकेट छोड़ने के बाद आर्थिक तंगी से गुजर रहा यह ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर, कर रहा कारपेंटर का काम

फैंस भी रह गए हैरान
जिम्बाब्वे के खिलाड़ी रयान बर्ल का यह ट्वीट वायरल हो गया। रसान के ट्वीट से प्रशंसकों हैरान रह गए और उनमें से कई लोगों ने लेग स्पिनर रयान बर्ल की मदद करने की पूरी कोशिश की। वहीं 2017 में जिम्बाब्वे के लिए डेब्यू करने वाले बर्ल ने अभी तक 3 टेस्ट, 18 वनडे और 25 टी20 मुकाबले खेले हैं। हाल ही में पाकिस्तान के खिलाफ हुई टी20 सीरीज में भी वह जिम्बाब्वे की टीम का हिस्सा थे।



Source फटे जूतों को चिपकाकर खेलने को मजबूर है यह इंटरनेशनल खिलाड़ी, सोशल मीडिया पर लगाई मदद की गुहार
https://ift.tt/3yvoTZP

Post a Comment

0 Comments